प्रैस रिलीज़: कादियान में अहमदिया मुस्लिम जमाअत भारत का 123 वां जलसा सालाना

सब धर्मों में आपसी सौहार्द तथा शांति स्थापित करने वाला रूहानी जलसा

IMG_20171229_114052

अहमदिया मुस्लिम जमाअत भारत के केंद्र काद‌ियान ज़‌िला गुरदासपुर, पंजाब में दिनांक 29 ,30, 31 दिसंबर 2017 ई को 123 वां  जलसा सालाना अर्थात सम्मेलन वार्षिक अपनी पारंपरिक शान शौकत के साथ आयोजित किया जा रहा है।

IMG_20171229_114010

आज से 128 साल पहले सन 1891 में जमाअत अहमदिया के संस्थापक हज़रत मिर्ज़ा ग़ुलाम अहमद साहब कादियानी मसीह मौऊद अलैहिस्सलाम ने अल्लाह तआला के हुक्म से धर्मों में शांति तथा सुलह की नींव डालने वाले इस रूहानी जलसा को शुरू किया था।

इस जलसा का उद्देश्य इस्लाम की सुंदर और शांतिपूर्ण शिक्षाओं से दुनिया को परिच‌ित कराना है। इसी प्रकार दुनिया को अपने वास्तविक निर्माता ख़ुदा तआला की ओर बुलाना, मानव जाति में आपसी सहानुभूति की भावना पैदा करना, भाईचारा को बढ़ावा देना इस जलसा के महान उद्देश्य हैं। यह जलसा एक अनोखा और अनुपम जलसा है।

IMG_20171229_114056

यह जलसा एक रूहानी जलसा है जिस में सांसारिक स्वार्थों और लक्ष्यों को पीछे करते हुए सच्चाई की तलाश करने वाले दूरदराज़ से यात्रा के कष्ट सहन करते हुए भाग लेते हैं। जमाअत अहमदिया जो दुनिया के 210 देशों में स्थापित है इस के मेम्बर विभिन्न देशों से इस जलसा में भाग लेने के ल‌िए काद‌ियान में तशरीफ़ लाते हैं।

इस तीन दिवसीय सम्मेलन में “सर्व धर्म सम्मेलन ” के लिए एक विशेष समय निर्धारित है जिस में विभिन्न धर्मों के नेता और लीडर अपने अपने धर्मों की शिक्षाओं की रोशनी में शांति और सुरक्षा की स्थापना के संदर्भ में अपने विचार व्यक्त करेंगे। इस जलसा की सारी गतिविधियों का विभिन्न विदेशी और देशी भाषाओं में अनुवाद भी होगा।

IMG_20171229_113917

इस सालाना जलसा का प्रमुख केन्द्र ब‌िन्दु अहमदिया मुस्ल‌िम जमाअत के सार्वभौमिक इमाम तथा ख़लीफा हज़रत मिर्ज़ा मसरूर अहमद साह‌िब का जलसा के दर्शकों से सीधा संबोधन है जो जमाअत अहमदिया के सैटेलाइट चैनल “मुस्लिम टेलीविज़न अहमदिया” (MTA) के माध्यम से सीधा प्रसारित होगा जिस से सारी दुनिया के लोग लाभांवित होंगे।

इस जलसा के माध्यम से अहमदिया मुस्लिम जमाअत का यही संदेश है कि इंसान अपने निर्माता की तरफ लौटे और “मुहब्बत सब के ल‌िए नफरत किसी से नहीं ” के सिद्धांत को अपनाते हुए हर इंसान दूसरे इंसान की धार्मिक भावनाओं का सम्मान करे और मानवता के कल्याण के लिए साथ मिलकर काम करें।

अहमद‌िया मुस्लिम जमाअत की तरफ से सभी देश वासियों को इस जलसा में शामिल होने के लिए आंमत्रित किया जाता है।

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

w

Connecting to %s