भारत: अहमदिया मुस्लिम जमाअत बिहार द्वारा भागलपुर में सर्व धर्म सम्मेलन का आयोजन

प्रेस रिलीज़

विश्वव्यापी अहमदिया मुस्लिम जमाअत बिहार द्वारा भागलपुर में सर्व धर्म सम्मेलन का आयोजन

“समस्त धर्मों का आदरएवंसम्मानहीविश्वशांतिकीप्रतिभूतिहैमौलाना हमीद कौसर

दिनांक 23, जुलाई2017: विश्वव्यापी अहमदिया मुस्लिम  जमाअत बिहार प्रदेश के ज़िलाभागलपुर में “सर्वधर्मसम्मेलन” का सफ़ल आयोजन किया गया। इस सर्व धर्म सम्मेलन में विश्वशान्ति, सद्भाव के विचारों को बढ़ावा देने हेतु समस्तवर्ग के विद्वान, समस्त धर्मों के अनुयायी एवं अनेक सामाजिक, सरकारी पदाधिकारी भी एकत्रित हुए।

हमारा देश भारत अनेक धर्मों एवं सभ्यताओं का देश है, अनेक धार्मिक, सामाजिक, एवं सभ्यताओं में असमानता होने के बावजूद यहाँ का प्रत्येक नागरिक आपस में प्रेम, सद्भा वएवं शांति के साथ जीवन व्यतीत करता है। इन प्रियविचारों को पुरे विश्व में पहुँचाने हेतु विश्वव्यापी अहमदिया मुस्लिम जमाअत प्रत्येक वर्ष विश्व भर में “सर्व धर्म सम्मेलन का आयोजन करती है, जिस में प्रत्येक धर्म के अनुयायी शांति प्रेम, सहानुभूति, सद्भाव का उच्च उदहारण प्रस्तुत करने के लिए एकत्रित होते हैं।

इससर्व धर्म सम्मेलनके आयोजन से हमारा उद्देश्य केवल इतना है की हमारे देश का प्रत्येक नागरिक हर प्रकार के धार्मिक, सामाजिक विश्वासों से उपर उठकर केवल मानवता की तरक्की, सहानुभूति, सद्भाव एवं कल्याण की ओर अपना ध्यान केन्द्रित करे ताकि इसके द्वारा हमारा देश, संसार का सबसे शन्तिप्रिय एव शांतिपूर्ण देश बनजाए। 

आज विश्व तेज़ी से एक अजीब संकट की ओर जा रहा है। एक विश्वव्यापी शांति का संदेश देने वाली इस्लामी जमाअत होने के कारण अहमदिया मुस्लिम जमाअत अपना यह परम धर्म एवं कर्तव्य समझती है और प्रयासरत है कि विश्व का ध्यान शांति की ओर केन्द्रित करे क्यों कि इस्लाम एक शान्तिपूर्ण, शांति प्रिय एवं शान्तिस्थापित करने वाला धर्म है। इस्लाम के अर्थ ही अमन एवं शान्ति के है . इस्लाम धर्म के संस्थापक हज़र तमोहम्मद मुस्तफा सल्लाहो अलैहि वसल्लम ने सदैव शांति, प्रेम, सहानुभूति, सदभाव को फैलाने की शिक्षा दीहै।

इस्लाम की इन्हीं शांतिपूर्ण एवं शान्ति स्थापित करने वाली शिक्षाओं से संसार को अवगत कराने हेतु हज़रत मिर्ज़ा ग़ुलाम अहमद साहिब क़ादियानी मसीह मौऊद व महदी मौहूद अलैहिस्सलामनेसन 1889 ई. में हमारे प्रिय देश हिन्दुस्तान में अहमदिया मुस्लिम जमाअत की नींव रखी। संस्थापक जमाअत अहमदिया को अल्लाह तआला ने इस युग में संसार के सुधार एवं शन्ति की स्थापना हेतु भेजा है। आपके आने का मूल उद्देश्य ही मनुष्य को अपने वास्तविक ईश्वर की पहचान करवाते हुए उसके साथ सच्चा संबध स्थापित करना और मनुष्यों के बीच प्रेम, सहानुभूति, सद्भाव स्थापित करना है और गत 128 वर्षों से विश्वव्यापी अहमदिया मुस्लिम जमाअत ख़िलाफ़त-ए-अहमदिया के आध्यात्मिक नेतृत्व में संस्थापक जमाअत अहमदिया द्वारा वर्णित शिक्षाओं के अनुसार शांति के संदेशों को विश्व के किनारों तक पहुंचा रही है।

विश्वव्यापीजमाअतअहमदियाकामुख्यसिद्धांतप्रेमसबकेलिए, घृणाकिसीसेनहींहै. अपने इन्हीं प्रिय एवं शांति संदेशों के कारण विश्वव्यापी जमाअत अहमदिया विश्व के 209 देशों में स्थापित है और शांति का संदेश दे रही है।

आज जबकि घटनाएँ एवं हालात विश्व को एक भी षण तबाही की ओर धकेल रहे हैं, ऐसे समय में विश्वव्यापी जमाअत अहमदिया के पाँचवे ख़लीफ़ा हज़रत मिर्ज़ा मसरूर अहमद विश्व में शांति स्थापित करने हेतु अल्लाह तआला के प्रति मानवजाति के अधिकार और उनकी आवश्यकता, महत्वता तथा प्रत्येक स्तर पर उनको इंसाफ के उच्चस्तर पर स्थापित करने हेतु ज़ोर दे रहे हैं तथा विश्व भर में बसने वाले समस्त अहमदी मुसलमानों को देश के साथ वफ़ादारी करने और देश की तरक्की एवं कल्याण के कार्यों में भाग लेने के साथ साथ हर प्रकार के प्रलोभन, फ़साद एवं आतंकवाद जैसे गंदे विचारों एवं कार्यों से दूर रेहने की नसीहत कर रहे हैं।

उक्त आयोजित सर्व धर्म सम्मेलन का प्रारम्भ पवित्र कुरान मजीद कि तिलावत से हुआ और फिर मुंगेर के दानिश अनवर ने एक नज्म पढ़ी. उसके बाद अहमदिया मुस्लिम समुदाय के धार्मिक केंद्र कादियां (ज़िला गुरदासपुर, पंजाब) से आए मौलाना हमीद कौसर साहब सचिब धर्म प्रचार विभाग के द्वारा इस इस एतिहासिक धार्मिक आयोजन के मूल उद्दश्यों इत्यादि के संबंध में उद्घाटन भाषण दिया और उपरोक्त वर्णित अहमदिया मुस्लिम समुदाय के विचारों तथा उद्दश्यों का उल्लेख किया.उनके बाद विभिन्न धर्मों के विद्वान वक्ताओं ने अपने भाषणों में अपने अपने धर्म कि शिक्षाओं और विशेषताओं का बहुत अच्छे शब्दों में वर्णन किया. उन धार्मिक विद्वान वक्ताओं का विवरण निम्न प्रकार है.

1.श्रीमती कृष्णा देवी (जिन्हें लोग रामायणी देवी के नाम से भी जानते हैं): ने अपने भाषण में कहा की धर्म किसी बेश भूसा का नाम नही है धर्म तो सब को खुश रखने और प्यार करने का नाम है.

.2.प्रो0 (डा0) फारुक अली साहब.

प्रो0 वी0 सी0,बी0एन0 मंडल विश्व विद्वालय

.3.माननीय प्राज्ञा दीप महा सचिव अखिल भारतीय भिक्षु संघ बौध गया: ने अपने भाषण में कहा की हमारे देश में भिन्नता ही इसकी खूबसूरती है.यह कभी मिट नही सकती.

4.रे0फादर सुशिल मोदी रोमन कैथोलिक चर्चभागलपुर: ने कहा की इश्वर ने अपना सभाव हमारे अंदर समे दिया है.इसा मसीह ने धर्म परिवर्तन नही बल्कि मन परिवर्तन के लिए कहा है.

उक्त भाषणों के बाद अहमदिया समुदाय के युवकों के द्वारा एक मधुर युगल गान प्रस्तुत किया गया,जिनके शब्द कुछ इस प्रकार के थे: मोहब्बत के नगमात गाएंगे हम इस युगल गान  के बाद पुनः धर्म-विद्वानोंके भाषणों का क्रम शुरू हुआ

5.सरदार श्री अवतार सिंह जी तख्त श्री हरी मन्दिर जी पटना साहेब,पटना: ने कहा हम किसी भी धर्म के होने से पहले भारतीय हैं.और हम सब एक ही भगवान की सन्तान हैं.

6.श्री सुनील जैन मंत्री बिहार,बंगाल,उड़ीसाजैन तीर्थ कमिटी भारत.

7.श्री अजमत हुसैन साहब सहिव इंटर फेथ फोरम

8.आचार्य नसीर उल हक साहब कादियां,पंजाब

इसके व्यतीत शहर और समाज के जो महानुभाव ने इस सम्मेलन में शामिल हुए उनके नाम इस प्रकार हें

*अजय कुमार चौधरी कमिश्नर साहब भागलपुर डिवीज़न:ने अपने भाषण में कहा की धर्म ने हमे सीधा व आसन रास्ता सिखाया था परन्तु  कुछ मनुष्य ने उसे बिगाड़ कर कठिन बना दिया और लोगों को गुमराह कर दिया.

*राजीव कान्त मिश्रा डायरेक्टर जी एस एजुकेशन भागलपुर: ने कहा की धरम के नाम पर मठाधीशों ने आज लोगोंको बांट ककर रखा है जबकी धर्म का कम लोगों को जोड़ना है.

*राजेश वर्मा डिप्टी मेयर भागलपुर: ने कहा की आज हमे  लोगों को जात पात में बांटना छोड़ कर अमन का परचम बांटना चाहिए.

*श्रीमती विना यादव भूतपूर्व मेयर भागलपुर.

*मोहम्मद फरीदी ज़िला अध्यक्ष जनता दल यूनाइटेड भागलपुर.

*शिवानन्द मिश्रा एडिशनल जज भागलपुर.

उक्त विद्वान, धार्मिक वक्ताओं के भाषणों के बाद सम्मेलन में उपस्थित मुख्य अथितियों ने भी इस सम्मेलन केसम्बंध में अपने अपने विचारों को व्यक्त करते हुए अहमदिया समुदाय के इस एतिहासिक प्रयास की सराहना की.संक्षिप्त निष्कर्षजो इस सम्मेलन का निकलावह यह था की सभी धर्म के संस्थापकऔर उनके  पवित्र ग्रंथो में एक भगवान को परम पितापरमेश्वर के रूप में माना जाता है.और सभी कि शिक्षा और उनका विश्वास सभी समुदायों के बीच प्रेम,सदभाव और शांति बनाएरखना और किसी से नफरत और घृणा करना नही है.

अंत में इस आयोजन के अध्यक्ष और अहमदिया मुस्लिम समुदाय के ज़िला अमीर श्री मोहम्मद अब्दुल बाकी साहब ने अपने अध्यक्षी भाषण मेंइस आयोजन को सफल बनानी में अपने अल्लाह के साथ साथ सम्मेलन में शामिल सभी अतिथियों और विशेष कर स्थानीय प्रशाशन के सभी स्तर के पदाधिकारियों को,सभी सामाजिक संस्थानों के संचालको एवं सदस्यों और अपनी समुदाय के सभी सदस्यों द्वारा पूरा पूरा सहयोग करने हेतु आभार व्यक्त किया.खास तौर से अपने मुख्य अथिति पटना उच्च न्यालय के सेवा निवृत माननीय न्यायमूर्तिश्री अमरेश कुमार लाल के पटना से आकर सम्मेलन में सम्मिलित होने के लिए बहुत आभार प्रकट किया.सामूहिक दुआ और प्राथना के साथ बहुत अच्छेमाहोल में इस सम्मेलन की समाप्ति हुई.

इस सम्मेलन की विशेषता यह थी कि भारी संख्या में विभिन्न धर्मो के अनुयायी उपस्थित थे.सम्मेलन में उपस्थित सभी लोगों ने इस आयोजन की बहुत सराहना की .बहुतसे लोगें ने कहा कि इस तरह के सम्मेलन शहर में होते रहने चाहिए.अहमदिया समुदाय के लोगों ने अमन व शांति के लिए बहुत अच्छी कोशिश की है.

अन्य के व्यतीत इस सम्मेलन में प्रोफ़ेसरशम्शु कुमार,डाक्टर रतन मंडल,फ़ादर वर्गीश,प्रकाश सिंह,प्रोफ़ेसर निरंजन  आदि गणमान्य व्यक्ति उपस्थित थे.

सम्मेलन से तस्वीरें

23rd all religious conference Bhagalpur, Bihar

23rd all religious conference Bhagalpur, Bihar

Ahmadiyya Muslim Community organizes 23rd all religious conference Bhagalpur, Bihar

Ahmadiyya Muslim Community organizes 23rd all religious conference Bhagalpur, Bihar

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (9)

????????????????????????????????????

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (10)

????????????????????????????????????

DSC_0403DSC_0049DSC_0036DSC_0032DSC_0008DSC_0001

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (8)

????????????????????????????????????

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (7)

????????????????????????????????????

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (5)

????????????????????????????????????

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (4)

????????????????????????????????????

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (3)

????????????????????????????????????

23rd all religious conference bhagalpur,Bihar (1)

????????????????????????????????????

DSC_0364DSC_0050DSC_0079DSC_0087DSC_0088DSC_0089DSC_0112DSC_0148DSC_0171DSC_0174DSC_0203DSC_0205DSC_0049DSC_0363DSC_0364DSC_0344DSC_0253DSC_0251DSC_0240DSC_0239DSC_0238DSC_0233DSC_0225

1 reply

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s